पहले फेज की वोटिंग का अपडेट

२०१९ के लोकसभा चुनाव का आगाज हो गया हैं और कल यानी की ११ अप्रेल को प्रथम फेज के मतदान का भी अंत हुआ. भावी सांसदों की किस्मत एवीएम में क़ैद हो चुकी हैं. और उन्हें एक लम्बा इन्तजार करना हैं चुनाव के रिजल्ट्स का! आइये देखतें हैं की कल ख़ास क्या क्या हुआ.

१) वोटरों में पिछले इलेक्शन के मुकाबले उत्साह देखने को मिला. और इस बार के मतदान प्रतिशत पिछले चुनावों के मुकाबले ज्यादा देखने को मिली. उत्तर प्रदेश में हुई वोटिंग में आठों की आठों सिट पर जम कर मतदान हुआ.

२) जैसे की पिछले कुछ सालों से हर चुनाव के वक्त होता हैं वैसे इवीएम् की विश्वनीयता पर फिर से एक बार सवाल उठे. इस बार बहुजन समाज पार्टी की तरफ से शिकायत आई की हाथी का बटन दबाने के बाद भी कमल को वोट जाता था और वो लाईट जलती थी.

३) बहुजन समाजवादी पार्टी के सतीश चंद्र मिश्रा ने डीजीपी को कॉल कर के गुस्सा जताते हुए बोला की दलितों को पुलिस बल प्रयोग और डरा धमका के वोटिंग करने से रोक रही हैं. और उनके मुताबिक दलित उनका परंपरागत वोटबैंक हैं इसलिए उन्हें नुकशान पहुंचाने के लिए ही पुलिस कुछ उपरवालों के हुक्म से ये सब कर रही हैं.

४) उत्तर प्रदेश में शाम के ६ बजे तक कुल मिला के ६२.३१% वोटिंग हो चूका था. और सिट बाय सिट वोटिंग प्रतिशत निचे देखें.

सहारनपुर 70.68%
कैराना 62.10%
मुजफ्फरनगर 66.66%
बिजनौर 65.40%
मेरठ 63%
बागपत 63.90%
गाजियाबाद 57.60%

५) आंध्रप्रदेश में आज का प्रथम फेज उतना सुखद नहीं रहा. यहाँ पोलिटिकल कलह में हुई झडप में दो कार्यकर्ता की जान गई. चुनाव में धांधली के आरोप से स्टार्ट हुई हिंसा में पुल्ला रेड्डी और सिद्दा भास्कर रेड्डी के हताहत होने की खबर हैं. ये मामला ताडीपत्री विधानसभा क्षेत्र के वीरापुरम गांव में हुआ.

६) नॉएडा में इलेक्शन ड्यूटी में तैनात पुलिस जवानो को फ़ूड पैकेट दिए गए. इन फ़ूड पैकेट के ऊपर के नाम से भी बवाल हो गया. नमो फ़ूड के लोगों से लोगों ने इलेक्शन कमिशन को टैग कर के पूछना चालू किया की क्या ये आचार संहिता का उलंघन नहीं हैं? लेकिन फिर पुलिस के आला अफसर ने ये स्पष्ट किया की दरअसल ये पैकेट्स ऐसी एक इटरी से आये हैं जो बहुत सालों से शहर में हैं.

७) उत्तर प्रदेश के सिवा बाकी के राज्यों में भी फुल जोश के साथ मतदान होने की खबर हैं. और जो आंकड़े आये हैं उनका और भी ऊपर जाने का पक्का अंदेशा हैं क्यूंकि मतदान समय के ख़त्म होने तक सभी राज्यों में कतारों में व्यक्ति मौजदू थे. शाम के आंकड़ो के मुताबिक़ इस प्रकार वोटिंग प्रतिशत रहा:

मेघालय ६७.१६%
अरुणाचल प्रदेश ६६%
बिहार ५३.०६%
मणिपुर ७८.०६%
नागालेंड ७८.६%
ओड़िसा ६६%
मिज़ोरम ६१.२९%
आसाम ६८%
छत्तीसगढ़ ४५%
लक्षदीप ६६%
सिक्किम ७४%
उत्तराखंड ५७%
आंध्रप्रदेश ७३%
पश्चिम बंगाल ८१%

८) इसी बिच काफी सारें वोटर्स का नाम भी सूचि से गायब और डिलीट होने की ख़बरें मिली. आंध्रप्रदेश के बहुत सब पोलिंग बूथ पर इसी वजह से काफी लोगों का गुस्सा भी फूटा.

तो ऐसा कुछ हाल और माहोल था लोकसभा चुनाव २०१९ के पहले फेज का. आप को आगे भी हम सभी फेज की लाइव अपडेट देंगे. आप हमारे आर्टिकल्स को दोस्तों के साथ व्हाटसएप्प और फेसबुक पर शेयर जरुर करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *