उत्तर प्रदेश २०१९ चुनाव शेड्यूल

२०१९ लोकसभा चुनाव उत्तर प्रदेश रिजल्ट

कुछ ही देर में लोकसभा चुनाव के रिजल्ट आना चालु हो जायेंगे.

अभी हाल की लाइव स्थिति में चुनाव के रुझान कुछ निचे के प्रकार हैं

बीजेपी 23
कोंग्रेस 4
सपा बसपा गठबंधन 8
अन्य 0

उत्तर प्रदेश के चुनावों की हर सिट की अपडेट आप निचे दी हुई टेबल में देख सकते हैं.

सिट पार्टी
सहारनपुर
कैराना
मुजफ्फरबगर
बिजनोर
नगीना
मोरादाबाद
रामपुर
संभाल
अमरोहा
मेरठ
बागपत
ग़ाज़ियाबाद
गौतमबुध्ध नगर
बुलंदशहर
अलीगढ़
हाथरस
मथुरा
आगरा
फतेहपुर सिकरी
फिरोजाबाद
मैनपुरी
इटाह
बदौन
अओंला
बरेली
पीलीभीत
शाहजहांपुर
खेरी
धौराह
सीतापुर
हरदोई
मिसरिख
उनाव
मोहनलालगंज
लखनऊ
रायबरेली
अमेठी
सुल्तानपुर
प्रतापगढ़
फारुखाबाद
ईटावाह
कन्नौज
कानपुर
अकबरपुर
जालौन
झांसी
हमीरपुर
बाँदा
फतेहपुर
कौशाम्बी
फूलपुर
अल्लाहबाद
बाराबंकी
फैजाबाद
अम्बेडकरनगर
बहराइच
कैसरगंज
शरावास्ती
गोंडा
डोमारियागंज
बस्ती
संतकबीर नगर
महाराजगंज
गोरखपुर
कुशीनगर
देओरिया
बांसगाँव
लालगंज
आजमगढ़
घोसी
सालेमपुर
बल्लिया
जौनपुर
मछलीशहर
गाज़ीपुर
चंदौली
वाराणसी
भादोही
मिर्ज़ापुर
रोबर्ट्सगंज

राजनीति के इस केंद्रबिंदु के ऊपर ही पुरे देश का भविष्य वैसे निर्भर हैं क्यूंकि जो उत्तरप्रदेश के चुनाव में बाजी मार गया २०१९ की लोकसभा में जित उसी की होगी. और यही वजह हैं की एग्जिट पोल में जब बीजेपी को यहाँ स्पष्ट लीड मिलती दिखी तो वो फिर से एक बार जित के घोड़े की सवारी का अहसास २३ मई के पहले ही करने लगी. एग्जिट पोल के मुताबिक़ यूपी के दिल में फिर से एक बार मोदी बसे हैं. यहाँ की ८० में से ५०-७८ सीटों तक बीजेपी के जितने के एग्जिट पोल्स वैसे तो बहार आये हैं.

लेकिन सेफ साइड के लिए अगर उसमे से ३० प्रतिशत निकालें तो भी ४० से ऊपर की सीटों पर बीजेपी का परचम लहराता हुआ दिख रहा हैं. सपा बसपा गठबंधन अपने वोट को एक दूसरी पार्टी को ट्रान्सफर करने में शायद फ़ैल रहे हैं इसकी एक वजह ये हैं. और दूसरी और बड़ी वजह तो ये ही हो सकती हैं की मोदी और योगी की सरकार पर जनता को भरोसा हैं.

आइये आप को यूपी की हरेक सिट के ऊपर कौन सी पार्टी फिलहाल लीड लेती हुई दिख रही हैं उसका विवरण दे दें. चौंकाने वाली बात ये हैं की मुलायम सिंह यादव की मैनपुरी और राहुल गांधी की अमेठी भी शायद इस बार खतरे में हैं जो इंडिया की सब से सुरक्षति सीटों में मानी जाती रही हैं.

सिट पार्टी
सहारनपुर बीजेपी
कैराना बीजेपी
मुजफ्फरबगर बीजेपी और आरएलडी में कांटे का मुकाबला
बिजनोर बसपा
नगीना बसपा
मोरादाबाद सपा
रामपुर सपा
संभाल सपा
अमरोहा बीएसपी बीजेपी में कांटे का मुकाबला
मेरठ बीएसपी बीजेपी में कांटे का मुकाबला
बागपत आरएलडी बीजेपी में कांटे का मुकाबला
ग़ाज़ियाबाद बीजेपी
गौतमबुध्ध नगर बीजेपी
बुलंदशहर बीजेपी
अलीगढ़ बीजेपी
हाथरस बीजेपी
मथुरा बीजेपी
आगरा बीजेपी
फतेहपुर सिकरी बीजेपी
फिरोजाबाद बीजेपी
मैनपुरी सपा और बीजेपी में कांटे का मुकाबला
इटाह बीजेपी
बदौन बीजेपी
अओंला बीजेपी
बरेली बीजेपी
पीलीभीत बीजेपी
शाहजहांपुर बीजेपी
खेरी बीजेपी
धौराह बीजेपी
सीतापुर बीजेपी
हरदोई बीजेपी
मिसरिख बीजेपी बसपा में कांटे का मुकाबला
उनाव बीजेपी
मोहनलालगंज बीजेपी
लखनऊ बीजेपी
रायबरेली कोंग्रेस
अमेठी कोंग्रेस और बीजेपी में कांटे का मुकाबला
सुल्तानपुर बीजेपी बसपा में कड़ी टक्कर
प्रतापगढ़ बीजेपी
फारुखाबाद बीजेपी
ईटावाह बीजेपी
कन्नौज बीजेपी
कानपुर बीजेपी
अकबरपुर बीजेपी
जालौन बीजेपी
झांसी बीजेपी
हमीरपुर बीजेपी
बाँदा बीजेपी
फतेहपुर बीजेपी
कौशाम्बी बीजेपी
फूलपुर भाजपा
अल्लाहबाद बीजेपी
बाराबंकी बीजेपी
फैजाबाद बीजेपी
अम्बेडकरनगर बीजेपी बसपा में कड़ी टक्कर
बहराइच बीजेपी
कैसरगंज बीजेपी
शरावास्ती बीजेपी बसपा में कड़ा मुकाबला
गोंडा बीजेपी
डोमारियागंज बीजेपी बसपा में कड़ा मुकाबला
बस्ती बीजेपी
संतकबीर नगर बीजेपी
महाराजगंज बीजेपी
गोरखपुर बीजेपी
कुशीनगर बीजेपी
देओरिया बीजेपी
बांसगाँव बीजेपी
लालगंज बसपा
आजमगढ़ सपा
घोसी बीजेपी
सालेमपुर बीजेपी बसपा में कांटे का मुकाबला
बल्लिया बीजेपी
जौनपुर बीजेपी बसपा में कांटे का मुकाबला
मछलीशहर बीजेपी
गाज़ीपुर बीजेपी बसपा में कांटे का मुकाबला
चंदौली बीजेपी
वाराणसी बीजेपी
भादोही बीजेपी बसपा में कांटे का मुकाबला
मिर्ज़ापुर अपनादल
रोबर्ट्सगंज अपनादल

उत्तर प्रदेश भारत की राजनीति का केंद्रबिंदु हैं. ये वही प्रदेश हैं जहाँ से बहुत सब कद्दावर नेताओं ने राजनीति में प्रवेश और प्रगति की. उत्तरप्रदेश में सब से ज्यादा लोकसभा सीटें भी हैं. इसलिए भाजप हो या कोंग्रेस सभी को ये गढ़ जितना हैं. और सब से बड़े स्टेट होने की वजह से यूपी में २०१९ के चुनाव भी सात अलग अलग फेज़ में होने हैं. निचे के टेबल में आप देखें की किस फेज में किस सिट पर किस तारीख को चुनाव होने हैं.

२०१४ चुनाव के रिजल्ट

विरोधियों के लिए २०१४ की मोदी लहर की हवा सब से ज्यादा जहाँ खतरनाक हुई थी वो उत्तर प्रदेश ही था. वहां की ८० में से ७१ सिट पर भगवा लहरा के नरेन्द्र मोदी ने अपने प्रधानमंत्री बनने के सपने को एक ही झटके में पार कर लिया था. हालांकि तब समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी ने अलग अलग लड़ते हुए अपने वोट बिखेर दिए थे.

वोट प्रतिशत कुछ इस प्रकार था मुख्य चुनावी पार्टियों का:

पार्टी वोट शेयर सीटें
भारतीय जनता पार्टी ४२.3% ७१
समाजवादी पार्टी २२.२%
बहुजन समाजवादी पार्टी १९.६%
कोंग्रेस ७.५%
अपना दल १%

अमित शाह और उनकी टीम के लिए ऊपर के आंकड़ो का आकलन सरदर्द से कम नहीं होगा. हालंकि बीजेपी भले ही ये कह रही हो की सपा और बसपा के साथ में आने से उन्हें कुछ ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. लेकिन ये बात जाहिर हैं की अब बीजेपी के ७१ सिट आना कठिन नहीं नामुमकिन जैसा लगता हैं. और सिर्फ गठबंधन इसकी वजह नहीं हैं. नोटबंदी, जीएसटी और मोदी लहर की कम तीव्रता भी उसके कुछ कारण हैं.

२०१४ के विनिंग कैंडिडेट्स:

सिट विनर कैंडिडेट पार्टी
सहारनपुर राघव लखनपाल भाजपा
कैराना हुकुम सिंह भाजपा
मुजफ्फरबगर संजीव बालियान भाजपा
बिजनोर कुंवर भरतेन्द्र सिंह भाजपा
नगीना यशवंत सिंह भाजपा
मोरादाबाद कुंवर सर्वेश कुमार भाजपा
रामपुर नेपाल सिंह भाजपा
संभाल सत्यपाल सिंह सैनी भाजपा
अमरोहा कंवर सिंह तंवर भाजपा
मेरठ राजेंद्र अग्रवाल भाजपा
बागपत सत्यपाल सिंह भाजपा
ग़ाज़ियाबाद विजय कुमार सिंह भाजपा
गौतमबुध्ध नगर महेश शर्मा भाजपा
बुलंदशहर भोला सिंह भाजपा
अलीगढ़ सतीश कुमार गौतम भाजपा
हाथरस राजेश कुमार दिवाकर भाजपा
मथुरा हेमा मालिनी भाजपा
आगरा राम शंकर कथेरिया भाजपा
फतेहपुर सिकरी चौधरी बाबूलाल भाजपा
फिरोजाबाद अक्षय यादव सपा
मैनपुरी तेजप्रताप सिंह यादव सपा
इटाह राजवीर सिंह भाजपा
बदौन धर्मेन्द्र यादव सपा
अओंला धर्मेन्द्र कश्यप भाजपा
बरेली संतोष कुमार गंगवार भाजपा
पीलीभीत मेनका गांधी भाजपा
शाहजहांपुर कृष्णा राज भाजपा
खेरी अजय कुमार मिश्रा भाजपा
धौराह रेखा वर्मा भाजपा
सीतापुर राजेश वर्मा भाजपा
हरदोई अंशुल वर्मा भाजपा
मिसरिख अंजू बाला भाजपा
उनाव साक्षी महाराज भाजपा
मोहनलालगंज कौशल किशोर भाजपा
लखनऊ राजनाथ सिंह भाजपा
रायबरेली सोनिया गांधी कोंग्रेस
अमेठी राहुल गांधी कोंग्रेस
सुल्तानपुर वरुण गांधी भाजपा
प्रतापगढ़ कुमार हरिवंश सिंह अपना दल
फारुखाबाद मुकेश राजपूत भाजपा
ईटावाह अशोककुमार दोहरे भाजपा
कन्नौज डिम्पल यादव सपा
कानपुर मुरली मनोहर जोशी भाजपा
अकबरपुर देवेन्द्र सिंह भोले भाजपा
जालौन भानुप्रताप सिंह वर्मा भाजपा
झांसी उमा भारती भाजपा
हमीरपुर कुंवर पुष्पेन्द्र सिंह भाजपा
बाँदा भैरोप्रसाद मिश्रा भाजपा
फतेहपुर निरंजन ज्योति भाजपा
कौशाम्बी विनोद कुमार सोनकर भाजपा
फूलपुर केशवप्रसाद मौर्य भाजपा
अल्लाहबाद श्यामचरण गुप्ता भाजपा
बाराबंकी प्रियंका सिंह रावत भाजपा
फैजाबाद लल्लू सिंह भाजपा
अम्बेडकरनगर हरिओम पांडे भाजपा
बहराइच सावित्रीबाई फुले भाजपा
कैसरगंज ब्रिजभूषण शरण सिंह भाजपा
शरावास्ती दद्दन मिश्रा भाजपा
गोंडा कीर्ति वर्धान सिंह भाजपा
डोमारियागंज जगदम्बिका पाल भाजपा
बस्ती हरीश द्विवेदी भाजपा
संतकबीर नगर शरद त्रिपाठी भाजपा
महाराजगंज पंकज चौधरी भाजपा
गोरखपुर योगी आदित्यनाथ भाजपा
कुशीनगर राजेश पांडे भाजपा
देओरिया कलराज मिश्रा भाजपा
बांसगाँव कमलेश पासवान भाजपा
लालगंज नीमल सोनकर भाजपा
आजमगढ़ मुलायम सिंह यादव सपा
घोसी हरिनारायण राजभर भाजपा
सालेमपुर रविन्द्र कुशवाह भाजपा
बल्लिया भरत सिंह भाजपा
जौनपुर क्रिश्नाप्रताप भाजपा
मछलीशहर रामचरित्र निषाद भाजपा
गाज़ीपुर मनोज सिन्हा भाजपा
चंदौली महेन्द्रनाथ पांडे भाजपा
वाराणसी नरेन्द्र मोदी भाजपा
भादोही विरेंद्रसिंह मास्त भाजपा
मिर्ज़ापुर अनुप्रियासिंह पटेल अपनादल
रोबर्ट्सगंज छोटेलाल भाजपा

उत्तर प्रदेश २०१९ चुनाव कार्यक्रम:

फेज
सिट
वोटिंग (मतदान) की तारीख
पहले फेज में ८ सीटें सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद और गौतम बुद्ध नगर ११ अप्रेल
दुसरे फेज में ८ सीटें नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा, फतेहपुर सीकरी १८ अप्रेल
तीसरे फेज में १० सीटें मुरादाबाद, रामपुर, सम्भल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, बदायूं, आंवला, बरेली, पीलीभीत २३ अप्रेल
चौथे फेज में १३ सीटें शाहजहांपुर, खीरी, हरदोई, मिसरिख, उन्नाव, फर्रुखाबाद, इटावा, कन्नौज, कानपुर, अकबरपुर,जालौन,  झांसी, हमीरपुर २९ अप्रेल
पांचवें फेज में १४ सीटें धौरहरा, सीतापुर, मोहनलाल गंज, लखनऊ, राय बरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी, बाराबंकी, फैजाबाद, बहराइच, कैसरगंज, गोंडा ६ मई
छठे फेज में १४ सीटें सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, फूलपुर, इलाहाबाद, अम्बेडकर नगर, श्रावस्ती, डुमरियागंज, बस्ती, संत कबीर नगर, लालगंज, आजमगढ़, जौनपुर, मछलीशहर, भदोही १२ मई
सातवें फेज में १३ सीटें महाराजगंज, गोरखपुर, कुशीनगर, देवरिया, बांसगांव, घोसी, सलेमपुर, बलिया, गाजीपुर, चन्दौली, वाराणसी, मिर्जापुर, रॉबर्ट्सगंज १९ मई

उत्तर प्रदेश की इन ८० सीटों के चुनाव रिजल्ट पर सब की नजरें रहेंगी. और जैसे की विश्लेषक मानते हैं की जो पार्टी ने यूपी के चुनावी मैदान में बाजी मारी उसके पास केंद्र में सरकार बनाने में अहम् रोल होगा.

जब रिजल्ट आयेंगे चुनाव २०१९ के तब आप इसी पेज के ऊपर उत्त प्रदेश की हरेक सिट के नतीजें देख सकेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *